Guru nanak Jayanti 10 lines in hindi गुरु नानक जयंती पर 10 पंक्तियाँ

Guru nanak Jayanti 10 lines in hindi

Guru Nanak Jayanti 2023: हर साल कार्तिक माह की पूर्णिमा के दिन सिख धर्म के पहले गुरु गुरु नानक देव की जयंती मनाई जाती है। इस साल गुरु नानक देव की जयंती 27 नवंबर को मनाई जा रही है। यह अवसर सिख धर्म के अनुयायियों के लिए महत्वपूर्ण महत्व रखता है। इसे रोशनी का त्योहार या गुरु पर्व भी कहा जाता है। गुरु नानक जी सिख धर्म के संस्थापक और पहले गुरु थे। उनका जन्म साल 1469 में कार्तिक पूर्णिमा के दिन हुआ था। इसलिए, हर साल दुनिया भर में कार्तिक महीने की पूर्णिमा के दिन गुरु नानक जयंती मनाई जाती है।आज हम आपको गुरु नानक जी पर 10 वाक्य दे रहे हैं। Guru nanak Jayanti 10 lines in hindi सभी को जरूर पढ़नी चाहिए।

गुरुनाक जयंती पर 10 पंक्तियाँ ( Guru nanak Jayanti 10 lines in hindi)

1. गुरु नानक का जन्म 15 अप्रैल 1469 को वर्तमान पाकिस्तान में लाहौर से 64 किलोमीटर दूर तलवंडी गाँव में हुआ था।

2. गुरु नानक देव के पिता का नाम कालू चंद खत्री और माता का नाम तृप्ता देवी था।

3. गुरु नानक की शादी 1496 में हुई थी। पत्नी का नाम सुलक्खनी देवी था।

4. कहा जाता है कि गुरु नानक का बचपन से ही आध्यात्मिकता की ओर काफी रुझान था और वे सत्संग और चिंतन में लगे रहते थे। ईश्वर की खोज में गुरु नानक ने आठ साल की उम्र में अपनी पढ़ाई छोड़ दी।

5. गुरु नानक की ईश्वर के प्रति भक्ति गहरी थी, जिसके कारण लोग उन्हें एक दिव्य आत्मा के रूप में मानने लगे। 30 वर्ष की आयु तक, गुरु नानक ज्ञान में परिपक्व हो गए थे, और सर्वोच्च ज्ञान प्राप्त करने के बाद, उन्होंने अपना पूरा जीवन सत्य का प्रचार करने के लिए समर्पित कर दिया।

ये भी पढ़ें

गुरु नानक जयंती कोट्स यहाँ से पढ़ें
गुरु नानक देव का जीवन परिचययहाँ से पढ़ें
गुरु नानक जयंती पर 10 पंक्तियाँयहाँ से पढ़ें
गुरु नानक जयंती तिथि, इतिहास और महत्वयहाँ से पढ़ें


6. नानक का मानना ​​था, कि जनेऊ पहनने के बजाय लोगों को अपने गुणों को विकसित करने पर ध्यान देना चाहिए।

7. गुरु नानक अंधविश्वास और आडंबर के सख्त खिलाफ थे।नानक को बाहरी दिखावा पसंद नहीं था, और वे हमेशा आंतरिक परिवर्तन पर जोर देते थे ।

8. गुरु नानक जी ने 15 वी शताब्दी में सिख धर्म की स्थापना की और उन्होंने ‘’गुरु ग्रंथ साहब’’ लिखा था।

9. गुरु नानक ने एक “ओंकार” का नारा दिया था, जिसका मतलब है कि ‘’ईश्वर एक है’’।

10. गुरु नानक की मृत्यु पाकिस्तान के करतारपुर नामक स्थान पर 25 सितंबर 1539 में हुआ

सिक्ख धर्म से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तरयहाँ से पढ़ें

Leave a Comment